हीरे से दमकती बरखा की बूँदें

आज फिर से बारिश का दिन है | रत भर भी छाए रहे बादल और हलकी हलकी बूँदें भिगोती रहीं धरा बावली को नेह के रस में | बरखा की इस भीगी रुत में पेड़ों की हरी हरी पत्तियों पुष्पों से लदी टहनियों के मध्य से झा…

स्रोत: हीरे से दमकती बरखा की बूँदें

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s