मोक्षदा एकादशी

अतः परं प्रवक्ष्यामि मार्गशीर्षे सिता तु या, यस्याः श्रवणमात्रेण वाजपेयफलं लभेत् ||

मोक्षानामेति सा प्रोक्ता सर्वपापहरा परा, देवं दामोदरं राजन्पूजयेच्च प्रयत्नतः ||

तुलस्यामंजरीभिश्च धूपैर्दीपै: प्रयत्नतः, पूर्वेण विधिना चैव दशम्येकादशी तथा ||

मोक्षा चैकादाशी नाम्ना महापातकनाशिनी, रात्रौ जागरणं कार्यं नृत्यगीतस्त्वैर्मम ||

पद्मपुराण 24/8-11

हे अर्जुन, मैं मार्गशीर्ष शुक्ल पक्ष की एकादशी के विषय में बताता हूँ जिसके करने से वाजपेय यज्ञ का फल प्राप्त होता है | मोक्षदा एकादशी समस्त पापों का नाश करती है इसलिए इस दिन रात्रि जागरण करते हुए तुलसी की मंजरी तथा धूप दीपादि द्वारा नृत्य गीतादि के साथ भगवान दामोदर – विष्णु की पूजा अर्चना करनी चाहिए…

http://www.astrologerdrpurnimasharma.com/blog/

Advertisements

Weekly Horoscope

Monday, 20 November 2017 – Sunday, 26 November 2017

नीचे दिया राशिफल आवश्यक नहीं कि हर किसी के लिए सही ही हो – क्योंकि सूर्य एक राशि में एक माह तक रहता है और उस एक माह में लाखों लोगों का जन्म होता है | साथ ही ये फलकथन केवल ग्रहों के तात्कालिक गोचर पर आधारित होते हैं | इसलिए Personalized Prediction के लिए हर व्यक्ति की जन्म कुण्डली का व्यक्तिगत रूप से अध्ययन करना आवश्यक है | साथ ही, इस फलकथन अथवा ज्योतिष विद्या का उद्देश्य किसी भी प्रकार के अन्धविश्वास को बढ़ावा देना नहीं है | ज्योतिष के माध्यम से आपको कुछ दिशा-निर्देश प्राप्त हो सकता है – आपका कर्म सर्वोपरि है | अतः, स्वयं पर विश्वास रखते हुए कर्मशील रहिये…

To see this WEEKLY PREDICTION, Go To:

http://www.astrologerdrpurnimasharma.com/weekly-horoscope/

पञ्चांग – तिथि

पिछले लेख से हम पञ्चांग पर चर्चा कर रहे हैं | जैसा कि पहले बताया, पञ्चांग का प्रथम अंग है दिन अथवा वार | अब दूसरा अंग – तिथि |

जिस तरह अंग्रेज़ी महीनों की तारीख़ें होती हैं, उसी प्रकार भारतीय वैदिक ज्योतिष – Indian Vedic Astrology – के अनुसार हिन्दू काल गणना के अनुसार एक माह में 30 तिथियाँ होती हैं जो दो पक्षों में बंटी होती हैं – शुक्ल पक्ष और कृष्ण पक्ष | चन्द्र मास शुक्ल प्रतिपदा से आरम्भ होकर कृष्ण अमावस्या तक रहता है और इस प्रकार अमावस्या माह की अन्तिम तिथि हो जाती है – जिसे New Moon Day भी कहा जाता है | माह की पन्द्रहवीं तिथि पूर्णिमा कहलाती है जिसे Full Moon Day भी कहते हैं | अमावस्या के दिन सूर्य और चन्द्र का भोग्यांश लगभग बराबर होता है | इस भोग्यांश के घटने बढ़ने से ही तिथि की गणना होती है |

To read more, Go to:

 

http://www.astrologerdrpurnimasharma.com/2017/11/16/%e0%a4%aa%e0%a4%9e%e0%a5%8d%e0%a4%9a%e0%a4%be%e0%a4%82%e0%a4%97-%e0%a4%a4%e0%a4%bf%e0%a4%a5%e0%a4%bf/

 

 

Weekly Prediction

Monday, 13 November 2017 – Sunday, 19 November 2017

नीचे दिया राशिफल आवश्यक नहीं कि हर किसी के लिए सही ही हो – क्योंकि सूर्य एक राशि में एक माह तक रहता है और उस एक माह में लाखों लोगों का जन्म होता है | साथ ही ये फलकथन केवल ग्रहों के तात्कालिक गोचर पर आधारित होते हैं | इसलिए Personalized Prediction के लिए हर व्यक्ति की जन्म कुण्डली का व्यक्तिगत रूप से अध्ययन करना आवश्यक है | साथ ही, इस फलकथन अथवा ज्योतिष विद्या का उद्देश्य किसी भी प्रकार के अन्धविश्वास को बढ़ावा देना नहीं है | ज्योतिष के माध्यम से आपको कुछ दिशा-निर्देश प्राप्त हो सकता है – आपका कर्म सर्वोपरि है | अतः, स्वयं पर विश्वास रखते हुए कर्मशील रहिये…

To see this WEEKLY PREDICTION, Go To:

http://www.astrologerdrpurnimasharma.com/weekly-prediction/

गुरु-पुष्यामृत योग

आज गुरूवार को दोपहर 1:39 पर चन्द्रमा पुष्य नक्षत्र में चला जाएगा और कल दिन में 12:25 तक वहीं रहेगा और कल सूर्योदय तक गुरुपुष्यामृत योग रहेगा | इस योग में आरम्भ किये आपके समस्त कार्य सिद्ध हों…

To read more, Go to:

http://www.astrologerdrpurnimasharma.com/2017/11/09/%e0%a4%97%e0%a5%81%e0%a4%b0%e0%a5%81-%e0%a4%aa%e0%a5%81%e0%a4%b7%e0%a5%8d%e0%a4%af%e0%a4%be%e0%a4%ae%e0%a5%83%e0%a4%a4-%e0%a4%af%e0%a5%8b%e0%a4%97/

 

Weekly Prediction – 6 November-12 November

नीचे दिया राशिफल आवश्यक नहीं कि हर किसी के लिए सही ही हो – क्योंकि सूर्य एक राशि में एक माह तक रहता है और उस एक माह में लाखों लोगों का जन्म होता है | साथ ही ये फलकथन केवल ग्रहों के तात्कालिक गोचर पर आधारित होते हैं | इसलिए Personalized Prediction के लिए हर व्यक्ति की जन्म कुण्डली का व्यक्तिगत रूप से अध्ययन करना आवश्यक है | साथ ही, इस फलकथन अथवा ज्योतिष विद्या का उद्देश्य किसी भी प्रकार के अन्धविश्वास को बढ़ावा देना नहीं है | ज्योतिष के माध्यम से आपको कुछ दिशा-निर्देश प्राप्त हो सकता है – आपका कर्म सर्वोपरि है | अतः, स्वयं पर विश्वास रखते हुए कर्मशील रहिये…

To see this WEEKLY PREDICTION Go To:

http://www.astrologerdrpurnimasharma.com/weekly-prediction/

वैकुण्ठ चतुर्दशी

आध्यात्मिक और लौकिक उन्नति के लिए भगवान विष्णु और शिव के ऐक्य के प्रतीक वैकुण्ठ चतुर्दशी का व्रत पूरे विधि विधान से किया जाता है | सभी को वैकुण्ठ चतुर्दशी की हार्दिक शुभकामनाएँ…

http://www.astrologerdrpurnimasharma.com/2017/11/02/733/