Weekly Horoscope

Monday, 20 November 2017 – Sunday, 26 November 2017

नीचे दिया राशिफल आवश्यक नहीं कि हर किसी के लिए सही ही हो – क्योंकि सूर्य एक राशि में एक माह तक रहता है और उस एक माह में लाखों लोगों का जन्म होता है | साथ ही ये फलकथन केवल ग्रहों के तात्कालिक गोचर पर आधारित होते हैं | इसलिए Personalized Prediction के लिए हर व्यक्ति की जन्म कुण्डली का व्यक्तिगत रूप से अध्ययन करना आवश्यक है | साथ ही, इस फलकथन अथवा ज्योतिष विद्या का उद्देश्य किसी भी प्रकार के अन्धविश्वास को बढ़ावा देना नहीं है | ज्योतिष के माध्यम से आपको कुछ दिशा-निर्देश प्राप्त हो सकता है – आपका कर्म सर्वोपरि है | अतः, स्वयं पर विश्वास रखते हुए कर्मशील रहिये…

To see this WEEKLY PREDICTION, Go To:

http://www.astrologerdrpurnimasharma.com/weekly-horoscope/

Advertisements

पञ्चांग – तिथि

पिछले लेख से हम पञ्चांग पर चर्चा कर रहे हैं | जैसा कि पहले बताया, पञ्चांग का प्रथम अंग है दिन अथवा वार | अब दूसरा अंग – तिथि |

जिस तरह अंग्रेज़ी महीनों की तारीख़ें होती हैं, उसी प्रकार भारतीय वैदिक ज्योतिष – Indian Vedic Astrology – के अनुसार हिन्दू काल गणना के अनुसार एक माह में 30 तिथियाँ होती हैं जो दो पक्षों में बंटी होती हैं – शुक्ल पक्ष और कृष्ण पक्ष | चन्द्र मास शुक्ल प्रतिपदा से आरम्भ होकर कृष्ण अमावस्या तक रहता है और इस प्रकार अमावस्या माह की अन्तिम तिथि हो जाती है – जिसे New Moon Day भी कहा जाता है | माह की पन्द्रहवीं तिथि पूर्णिमा कहलाती है जिसे Full Moon Day भी कहते हैं | अमावस्या के दिन सूर्य और चन्द्र का भोग्यांश लगभग बराबर होता है | इस भोग्यांश के घटने बढ़ने से ही तिथि की गणना होती है |

To read more, Go to:

 

http://www.astrologerdrpurnimasharma.com/2017/11/16/%e0%a4%aa%e0%a4%9e%e0%a5%8d%e0%a4%9a%e0%a4%be%e0%a4%82%e0%a4%97-%e0%a4%a4%e0%a4%bf%e0%a4%a5%e0%a4%bf/

 

 

Weekly Prediction

Monday, 13 November 2017 – Sunday, 19 November 2017

नीचे दिया राशिफल आवश्यक नहीं कि हर किसी के लिए सही ही हो – क्योंकि सूर्य एक राशि में एक माह तक रहता है और उस एक माह में लाखों लोगों का जन्म होता है | साथ ही ये फलकथन केवल ग्रहों के तात्कालिक गोचर पर आधारित होते हैं | इसलिए Personalized Prediction के लिए हर व्यक्ति की जन्म कुण्डली का व्यक्तिगत रूप से अध्ययन करना आवश्यक है | साथ ही, इस फलकथन अथवा ज्योतिष विद्या का उद्देश्य किसी भी प्रकार के अन्धविश्वास को बढ़ावा देना नहीं है | ज्योतिष के माध्यम से आपको कुछ दिशा-निर्देश प्राप्त हो सकता है – आपका कर्म सर्वोपरि है | अतः, स्वयं पर विश्वास रखते हुए कर्मशील रहिये…

To see this WEEKLY PREDICTION, Go To:

http://www.astrologerdrpurnimasharma.com/weekly-prediction/

गुरु-पुष्यामृत योग

आज गुरूवार को दोपहर 1:39 पर चन्द्रमा पुष्य नक्षत्र में चला जाएगा और कल दिन में 12:25 तक वहीं रहेगा और कल सूर्योदय तक गुरुपुष्यामृत योग रहेगा | इस योग में आरम्भ किये आपके समस्त कार्य सिद्ध हों…

To read more, Go to:

http://www.astrologerdrpurnimasharma.com/2017/11/09/%e0%a4%97%e0%a5%81%e0%a4%b0%e0%a5%81-%e0%a4%aa%e0%a5%81%e0%a4%b7%e0%a5%8d%e0%a4%af%e0%a4%be%e0%a4%ae%e0%a5%83%e0%a4%a4-%e0%a4%af%e0%a5%8b%e0%a4%97/

 

Weekly Prediction – 6 November-12 November

नीचे दिया राशिफल आवश्यक नहीं कि हर किसी के लिए सही ही हो – क्योंकि सूर्य एक राशि में एक माह तक रहता है और उस एक माह में लाखों लोगों का जन्म होता है | साथ ही ये फलकथन केवल ग्रहों के तात्कालिक गोचर पर आधारित होते हैं | इसलिए Personalized Prediction के लिए हर व्यक्ति की जन्म कुण्डली का व्यक्तिगत रूप से अध्ययन करना आवश्यक है | साथ ही, इस फलकथन अथवा ज्योतिष विद्या का उद्देश्य किसी भी प्रकार के अन्धविश्वास को बढ़ावा देना नहीं है | ज्योतिष के माध्यम से आपको कुछ दिशा-निर्देश प्राप्त हो सकता है – आपका कर्म सर्वोपरि है | अतः, स्वयं पर विश्वास रखते हुए कर्मशील रहिये…

To see this WEEKLY PREDICTION Go To:

http://www.astrologerdrpurnimasharma.com/weekly-prediction/

वैकुण्ठ चतुर्दशी

आध्यात्मिक और लौकिक उन्नति के लिए भगवान विष्णु और शिव के ऐक्य के प्रतीक वैकुण्ठ चतुर्दशी का व्रत पूरे विधि विधान से किया जाता है | सभी को वैकुण्ठ चतुर्दशी की हार्दिक शुभकामनाएँ…

http://www.astrologerdrpurnimasharma.com/2017/11/02/733/

 

देव प्रबोधिनी एकादशी

सुप्तेत्वयिजगन्नाथ जगत्सुप्तंभवेदिदम् । विबुद्धेत्वयिबुध्येतजगत्सर्वचराचरम् ॥

हे जगन्नाथ ! आपके सो जाने पर यह सारा जगत सो जाता है तथा आपके जागने पर समस्त चराचर पुनः जागृत हो जाता है तथा फिर से इसके समस्त कर्म पूर्ववत आरम्भ हो जाते हैं…

देव प्रबोधिनी एकादशी की सभी को हार्दिक शुभकामनाएँ…

http://www.astrologerdrpurnimasharma.com/2017/10/31/%e0%a4%a6%e0%a5%87%e0%a4%b5-%e0%a4%aa%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a4%ac%e0%a5%8b%e0%a4%a7%e0%a4%bf%e0%a4%a8%e0%a5%80-%e0%a4%8f%e0%a4%95%e0%a4%be%e0%a4%a6%e0%a4%b6%e0%a5%80/